मुंबई : आज वर्ल्ड अर्थ डे यानी विश्व पृथ्वी दिवस है। आज तेजी से बढ़ती आधुनिकता ने सबसे ज्यादा नुकसान प्रकृति और पृथ्वी का ही किया है। प्रदुषण को नियंत्रित करने को लेकर लोगों के पास कोई दृष्टिकोण नहीं है। ऐसे में अभिनेत्री दिया मिर्ज़ा पर्यावरण को लेकर बेहद चिंतित और सजग नज़र आती हैं।

दिया ने बताया कि पर्यावरण को बचाना हमारी आने वाली पीढ़ियों का नहीं बल्कि हमारा मसला है। बुनियादी ज़रूरतों के लिए लोग रोटी, कपड़ा और मकान की बात करते रहे हैं लेकिन, इस नारे को बदलकर ‘शुद्ध हवा, शुद्ध पानी और शुद्ध भोजन’ कर देना चाहिए। दिया के मुताबिक 91 प्रतिशत लोग आज किसी न किसी रूप में प्रदुषण का शिकार हैं। दिल की बीमारियां बढ़ी हैं। छोटे-छोटे बच्चों तक को अस्थमा की शिकायत हो रही है। यह बहुत खतरनाक है। अगर हम आज भी नहीं संभले तो बड़ा नुकसान हो जाएगा!

Facebook Comments